इतिहास के स्त्रोत टेस्ट- 04

0%
1

Rajasthan GK In Hindi

इतिहास जानने के स्त्रोत - 04

1 / 20

1. निम्नलिखित में से कौन सी कृति की रचना सूर्यमल मिश्रण द्वारा की गयी थी -

2 / 20

2. किस अभिलेख में चौहानों को वत्स गोत्र का ब्राहम्ण कहा गया है -

3 / 20

3. हाड़ी रानी कर्मावती द्वारा जौहर में प्रवेश करते समय दिये गये भूमि अनुदान की जानकारी का स्त्रोत कौन सा है -

4 / 20

4. निम्नलिखित में से कौन सा ग्रंथ जयपुर की स्थापना एवं शहर की नगर निर्माण योजना की जानकारी देता है -

5 / 20

5. घटियाला प्राकृत अभिलेख किस शासक से सम्बन्धित है -

6 / 20

6. जयानक ने कौन सी कृति की रचना की -

7 / 20

7. किस अभिलेख में चौहानों को ‘वत्सगौत्र ब्राह्मण’ कहा गया है -

8 / 20

8. निम्न में से शिलालेख/प्रशस्ति और उनके वर्ष के सही जोड़े कौन से हैं -
1. अचलेश्वर शिलालेख – 1285
2. दिलवाड़ा शिलालेख – 1216
3. कुम्भलगढ़ प्रशस्ति – 1460

9 / 20

9. ‘कान्हड़दे प्रबन्ध’ किसके द्वारा रचित है -

10 / 20

10. निम्न में से सूर्यमल्ल मिश्रण द्वारा रचित नहीं है -

11 / 20

11. ‘अर्ली चौहान डायनेस्टिज’ लिखी है -

12 / 20

12. महाराणा कुम्भा द्वारा रचित ‘संगीत राज’ कितने भागों में विभक्त है -

13 / 20

13. राज प्रशस्ति की रचना किसने की -

14 / 20

14. वह कौनसा प्रथम अंग्रजी इतिहासकार था जिसने राजस्थान की जागीरदारी(फ्यूडलिज्म) व्यवस्था पर लिखा -

15 / 20

15. शिबि जनपद का उल्लेख का सर्वप्रथम स्त्रोत है -

16 / 20

16. मत्स्य का सर्व प्रथम उल्लेख आता है -

17 / 20

17. निम्नलिखित लेखकों में से कौन ‘ए हिस्ट्री आॅफ राजस्थान’ के लेखक हैं -

18 / 20

18. ‘कुमारपाल’ प्रबन्ध में उल्लेख है कि चित्तौड़ के किले का निर्माण एक मौर्य राजा ने करवाया था, उस राजा का नाम था -

19 / 20

19. ‘ब्रोचगुर्जर’ नामक एक ताम्रपत्र के आधार पर राजपूतों को यू-ची जाति का वंशज मानते हुए इनका संबंध कुषाण जाति से किसने जोड़ा है -

20 / 20

20. कौन पृथ्वीराज चौहान तृतीय का दरबारी विद्वान नहीं था -

Your score is

The average score is 50%

0%

1 thought on “इतिहास के स्त्रोत टेस्ट- 04”

  1. Pingback: Rajasthan GK Online Test || इतिहास जानने के स्त्रोत - Online Test Paper

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *